Explore

Search
Close this search box.

Search

Tuesday, July 16, 2024, 12:44 pm

Tuesday, July 16, 2024, 12:44 pm

Search
Close this search box.
LATEST NEWS
Lifestyle

पुलवामा में शहीद हुये सैनिकों की पुण्यतिथि पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, कांग्रेस पूर्व सैनिक विभाग के पदाधिकारी, कांग्रेसजनों और वर्दी सोशल वेलफेयर फाउंडेशन के सदस्यों ने शहीदों को नमन कर श्रद्धांजलि दी

पुलवामा में शहीद हुये सैनिकों की पुण्यतिथि
Share This Post

भोपाल, 14 फरवरी 2024: प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री राज्यसभा सांसद श्दिग्विजयसिंह, वर्दी सोशल वेलफेयर फाउण्डेशन, कांग्रेसजनों और मप्र कांग्रेस पूर्व सैनिक विभाग के पदाधिकारियों द्वारा उन 40 भारतीय जवानों की शहादत पर उन्हें नमन कर श्रद्धाजंलि अर्पित की गयी, जो पांच वर्ष पूर्व 2019 में पुलवामा में आतंकियों द्वारा भारतीय सैना के ट्रक में टक्कर मारने से हमलें में शहीद हो गये थे।पुलवामा में शहीद हुये सैनिकों की पुण्यतिथि
राजधानी के शौर्य स्मारक पार्क में पूर्व सैनिकों, राज्यसभा सांसद श्री दिग्विजय सिंह जी एवं मेजर जनरल श्याम शंकर श्रीवास्तव जी ने सैनिकों के शौर्य का स्मरण करते हुये उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये।
शहीदों का स्मरण करते हुये जनरल श्याम श्रीवास्तव ने कहा कि यह हादसा इतना बड़ा था कि पूरा देश स्तब्ध रह गया। हमले को लेकर आज कई सवाल जेहन में आते है कि यह आतंकी हमला 2019 के लोकसभा चुनाव के दो महीने पहले ही क्यों हुआ? क्या, यह इत्तेफाक था ? सुरक्षा की दृष्टि से जब सी.आर.पी.एफ. ने सरकार से हवाई यात्रा द्वारा उन्हें भेजने की अनुमति मांगी थी तो उन्हें हवाई जहाज क्यों नहीं दिये गये? इतनी कड़ी सुरक्षा के बावजूद, 300 किलो आरडीएक्स, सी.आर.पी.एफ. के काफिले तक कैसे पहुंचा? आज तक इस घटना की पूरी जाँच क्यों नहीं की गयी? इस चूक के लिये जिम्मेदार लोगों का पता नहीं लगाया जा सका और क्यों उनके विरूद्ध कार्यवाही नहीं की गयी?पुलवामा में शहीद हुये सैनिकों की पुण्यतिथि श्श्रीवास्तव ने कहा कि क्यों जनता की जिज्ञासा को शांत करने के लियें बालाकोट हवाई हमले की पूरी जानकारी नहीं दी गयी? वायु सेना प्रमुख एवं रक्षा मंत्री ने आतंकियों की कोई संख्या क्यों नहीं बतायी, पर गृहमंत्री ने बताया कि उनकी संख्या 250 से 300 तक थी? सबूत पूछे जाने पर पूछने वालों को देशद्रोही बता दिया? जबकि सेटेलाइट के द्वारा पूरी जानकारी उपलब्ध कराई जा सकती थी, जिस प्रकार गलवान घाटी की घटना टी.वी. पर दिखायी गयी थी?
मेजर जनरल ने कहा कि श्री सत्यपाल मलिक जी की जानकारी के बाद से कांग्रेस पार्टी लगातार सरकार से पुलवामा हमले पर श्वेत पत्र की मांगकर रही है। सरकार इसे क्यों जारी नहीं कर रही?पुलवामा में शहीद हुये सैनिकों की पुण्यतिथि दिग्विजय सिंह ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुये शहीदों के परिवारों की उचित देखरेख की मांग की।
पुण्यतिथि कार्यक्रम में पूर्व मंत्री पी.सी. शर्मा, विंग कमाण्डर अनुमा आचार्य, चीफ इंजी. के.के. सक्सेना, टी.एस. सोढ़ी, सूबे. मेजर शर्मा, सूबे. मेजर खान, नायब सूबे. होमसिंह बघेल, हवलदार राजेश चौधरी, नायब सूबे. श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।


Share This Post

Leave a Comment