Explore

Search
Close this search box.

Search

Thursday, July 18, 2024, 2:02 am

Thursday, July 18, 2024, 2:02 am

Search
Close this search box.

मंत्रियों से आश्वासन मिलने के बाद खत्म हुई नर्सों (Nurse) की हड़ताल

रविवार को मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अपने निवास पर स्वास्थ्य मंत्री के साथ नर्सिंग ऑफिसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों से उनकी मांगों को लेकर चर्चा की जिसके बाद एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया है।(Nurse)
Share This Post

सिविल सर्जन को सामूहिक पत्र सौंपकर संभाला कार्यभार (Nurse)

छतरपुर। रविवार को मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अपने निवास पर स्वास्थ्य मंत्री के साथ नर्सिंग ऑफिसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों से उनकी मांगों को लेकर चर्चा की जिसके बाद एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया है। प्रदेश नेतृत्व के निर्देशानुसार नर्सिंग ऑफिसर की हड़ताल खत्म हो गई है। छतरपुर में हड़ताल कर रही नर्सों ने रविवार को सिविल सर्जन को सामूहिक पत्र देकर अपना-अपना कार्यभार संभाल लिया है।

मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री मंत्री विश्वास सारंग ने अपने निवास पर नर्सिंग ऑफिसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ उनकी मांगों को लेकर चर्चा की। इस दौरान उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी भी मौजूद थे। चर्चा के बाद एसोसिएशन के रविवार को मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अपने निवास पर स्वास्थ्य मंत्री के साथ नर्सिंग ऑफिसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों से उनकी मांगों को लेकर चर्चा की जिसके बाद एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया है।(Nurse)पदाधिकारियों ने हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया। उल्लेखनीय है कि नर्सिंग ऑफिसर की ये हड़ताल लगभग एक सप्ताह से जारी थी। बताया गया है कि नर्सिंग ऑफिसर की मांगों के निराकरण के लिए समिति गठित की जाएगी जिसमें नर्सिंग एसोसिएशन के सदस्य और सरकारी अधिकारी भी होंगे। एसोसिएशन की जिलाध्यक्ष सुनीता धुर्वे ने बताया कि प्रदेश नेतृत्व से मिले निर्देशानुसार उन्होंने सिविल सर्जन डॉ. जीएल अहिवार को सामूहिक पत्र सौंपकर काम पर वापिस लौटने की सूचना दे दी है। उन्होंने बताया कि विगत 10 जुलाई से 15 जुलाई तक चली हड़ताल के बाद प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने मांगों को पूरा कराने का भरोसा दिया है, जिसके बाद हम सभी अपने काम पर वापिस लौट आए हैं।


Share This Post

Leave a Comment