Explore

Search
Close this search box.

Search

Friday, April 19, 2024, 7:05 pm

Friday, April 19, 2024, 7:05 pm

Search
Close this search box.
LATEST NEWS
Lifestyle

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रतिदिन पौधारोपण अभियान के तीन वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित किया गया पर्यावरण सम्मेलन

Shivraj Singh Chouhan
Share This Post

पर्यावरण सम्मेलन में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा, अध्यात्मिक व सामाजिक हस्तियों ने की सहभागिता, स्मार्ट सिटी पार्क में लगाए 108 पौधे
पूर्व मुख्यमंत्री ने पर्यावरण सम्मेलन में दिलाया विशेष दिवस पर पौधारोपण करने का संकल्प
लंबे समय से मैं शिवराज जी को अपना आदर्श मानता हूं, सरकार इस अभियान को आगे बढ़ाने में हर संभव सहयोग करेगी- डॉ. मोहन यादव
शिवराज जी का पौधारोपण संकल्प समाज के लिए प्रेरणादायी-श्री विष्णुदत्त शर्मा
शिवराज जी ने प्रकृति का ऋण उतार दिया- अनिल जोशी
शिवराज जी शुरू से ही पर्यावरण संरक्षण के प्रति संवेदनशील है- कमलेश डी. पटेल (दाजी)
पूर्व मुख्यमंत्री के प्रतिदिन पौधरोपण की खबर सुनकर मुझे बेहद खुशी हुई- समीर अंजान
पर्यावरण का ये अभियान अब “मैं से हम” का अभियान हो गया है
पेड़ नहीं, जिंदगी रौपी है, जीवन रौपा है
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव विजनरी लीडर हैं

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, 20/02/2021। पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रतिदिन पौधारोपण के संकल्प को तीन वर्ष पूर्ण होने पर मंगलवार को भोपाल के रविन्द्र भवन में पर्यावरण सम्मेलन आयोजित किया गया। पर्यावरण सम्मेलन से पूर्वShivraj Singh Chouhan स्मार्ट सिटी पार्क में 108 पौधे रौपे गए। सम्मेलन में देश भर की अध्यात्मिक व सामाजिक हस्तियों ने शिरकत की। जिनमें मुख्य रूप से हार्टफुलनेस संस्थान के प्रमुख कमलेश डी.पटेल दाजी, विख्यात पर्यावरणविद् अनिल प्रकाश जोशी, गीतकार समीर अंजान उपस्थित रहे। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मोहन यादव, उप-मुख्यमंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुत्त शर्मा भीShivraj Singh Chouhan उपस्थित रहे। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने सम्मेलन में उपस्थितजनों को पर्यावरण संरक्षण का संकल्प भी दिलाया और कहा कि, हरे भरे जंगल को देखते हैं तो मन आनंद और प्रसन्नता से भर जाता है, क्योंकि पेड़ नहीं, जिंदगी रौपी है, जीवन रौपा है। पेड़ ही तो जीवन हैं जो हमें ऑक्सिजन देते हैं। जिससे हमें जिंदगी मिलती है। सही बात यह है कि विश्व का कल्याण हो यह भारत का मूल मंत्र है और विश्व का कल्याण तब होगा जब धरती सुरक्षित बचेगी और धरती सुरक्षित बचाने का सबसे बड़ा माध्यम है पौधारोपण।

शिवराज जी को आदर्श मानता हूं-डॉ. मोहन यादव

मुख्यमंत्री डॉ.मोहन यादव ने पर्यावरण सम्मेलन के आयोजन को लेकर शिवराज सिंह को बधाई, शुभकमनाएं दी और कहा कि, मैं लंबे समय से शिवराज सिंह चौहान जी को अपना आदर्श मानता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि, सरकार इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिए हर संभव सहयोग करेगी। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि पौधरोपण के संबंध में स्थान तय करने और ट्री बैंक बनाने के सुझाव पर शीघ्र हीShivraj Singh Chouhan अधिकारियों से चर्चा करेंगे और इस दिशा में आगे बढ़ेंगे।

शिवराज जी का पौधारोपण संकल्प समाज के लिए प्रेरणादायी-श्री विष्णुदत्त शर्मा

पौधारोपण के पश्चात प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा प्रतिदिन पौधारोपण के सफलतम 3 वर्ष पूर्ण होने पर कहा कि श्री चौहान की यह पहल पर्यावरण संरक्षण और मानव जाति के सुखद भविष्य के लिए महत्वपूर्ण कदम है। अपनी अत्यधिक व्यस्तताओं के बाद भी श्री चौहान का पौधारोपण का अटूट संकल्प समाज के लिए प्रेरणादायी है।

शिवराज जी ने प्रकृति का ऋण उतार दिया

पर्यावरण सम्मेलन में सम्मिलित हुए पदमश्री व पद्म विभूषण से सम्मानित विख्यात पर्यावरणविद् श्री अनिल जोशी ने कहा कि, मैनें शिवराज सिंह चौहान के अंदर पर्यवारण के प्रति गंभीरता देखी तो मेरा भ्रम टूट गया कि एक राजनीतिज्ञ भी पर्यावरण के प्रति इतना गंभीर हो सकता है। उस वर्ग के बीच में उन्होंने लौ जगाकर एक उदाहरण दिया है। उन्होंने कहा कि, मैं पूर्व मुख्यमंत्री जैसे शब्द का प्रयोग नहीं करता, पूर्व तो पूर्व होता है आप तो पदों से ऊपर हैं, आपको तो मोक्ष प्राप्त हो चुका है, आपने प्रकृति के ऋण को उतार दिया है।

शिवराज जी पर्यावरण संरक्षण के प्रति संवेदनशील

हार्टफुलनेस संस्थान के प्रमुख श्री कमलेश डी.पटेल “दाजी” ने पूर्व मुख्यमंत्री के इस अभियान और जीवन के मिशन को लेकर कहा कि, शिवराज जी को शुरू से ही पर्यावरण संरक्षण और पौधारोपण में रूचि रही है। उन्होंने कहा कि, शिवराज जी ने मुख्यमंत्री रहते एक पहाड़ी पर पौधारोपण के लिए जमीन दी थी, हमने तीन महीने में उसकी सूरत बदल दी और पौधारोपण की वजह से आसपास के गांवों को भरपुर पानी भी मिला।

मुझे बेहद खुशी

गीतकार श्री समीर अंजान ने कहा कि, जब मुझे यह खबर मिली कि, हमारे शिवराज जी पौधारोपण का कार्यक्रम करते हैं और हर दिन एक पौधा लगाते हैं तो मुझे बहुत खुशी मिली। शिवराज जी कुछ ऐसे लोगों में से हैं जो इस विषय पर अपना ध्यान आकर्षित करते हैं। यह हमारा सौभाग्य है कि, पूर्व मुख्यमंत्री जी ने यह शुरूआत की है।

चार प्रयास बेहद जरूरी

पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पर्यावरण सम्मेलन में कहा कि, चार प्रयास करना बेहद जरूरी है पहला.. हर किसी को साल में एक बार जन्मदिवस, वैवाहिक वर्षगांठ, अपनों की स्मृति या किसी भी विशेष दिन पौधा अवश्य लगाना चाहिए। दूसरा.. अपने घरों को सोलर पैनल से रोशन करने का प्रयास करें, शहर को ग्रीन एनर्जी में बदलने का प्रयास करें क्योंकि थर्मल पॉवर से वर्यावरण को खासा नुकसान पहुंचता हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भी सोलर ग्रीन एनर्जी का संकल्प लिया है। तीसरा.. सिंगल यूज़ प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने के लिए खुद भी जागरूक हों और लोगों को भी जागरूक करें। चौथा.. बेटा-बेटी में कोई अंतर नहीं है इसलिए बेटियों को भी बेटों के बराबरी पर सम्मान मिले। बेटा-बेटी में कोई भेद न करें। उन्होंने कहा कि, बेटी है तो कल है।

पर्यावरण संरक्षण का संकल्प

पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मेलन में सभी को पर्यावरण संरक्षण का संकल्प दिलाते हुए कहा कि मैं संकल्प लेता हूं कि, अपने जन्मदिवस पर व अन्य विशेष दिवस पर पौधा लगाऊंगा व यथासंभव उसकी देखभाल करूंगा, पर्यावरण के संरक्षण के लिए हर संभव प्रयत्न करूंगा, ताकी आने वाली पीढ़ियों को ये धरती सुरक्षित मिले। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने इस अभियान को शुरू करने के पीछे की कहानी सुनाते हुए कहा कि, जब मैं मुख्यमंत्री था और भाषण देता था कि, पेड़ लगाओ, पर्यावरण बचाओ, तब मुझे लगा कि, केवल भाषण देने से काम नहीं चलेगा। मेरे मन में यह विचार आया कि पर्यावरण बचाने के कई तरीके हैं, एक बहुत आसान तरीका है पेड़ लगाओ और जब तक अत्यंत आवश्यक न हो पेड़ न कटें। मन में आया कि, जब तक खुद पेड़ नहीं लगाउंगा दूसरों को कहने का अधिकारी नहीं रहूंगा और इसलिए 19 फरवरी नर्मदा जयंती के दिन मैंने यह संकल्प लिया कि मैं रोज एक पेड़ लगाऊँगा तब से लेकर आज तक कैसी भी परिस्थिति रही हो, कोविड के दौरान भी जब मैं बीमार हुआ तो मैंने कहा कि, गड्ढा खोद कर पेड़ रख दो पर पेड़ तो जरूर लगाऊँगा।

ग्लोबल वार्मिंग बड़ा खतरा

पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, दुनिया बता रही है, वैज्ञानिक बता रहे हैं कार्बन गैसों से उत्सर्जन के कारण धरती की सतह का तापमान लगातार बढ़ता जा रहा है। वर्ष 2050 तक धरती की सतह का तापमान 2 डिग्री सेन्टीग्रेट बढ़ जाएगा और तब हमारे ग्लेशियर पिघल जाएंगे, समुद्र का जल स्तर बढ़ जाएगा, तबाही आएगी। इसलिए क्लाइमेट चेंज में दुनिया भर में कई सम्मेलन हुए हैं। सयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा जल-वायु परिवर्तन पर बुलाए गये सम्मेलन पर हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने दुनिया के सामने कुछ कमिटमेंट किए हैं, उन्होंने कहा और हमें संदेश भी दिया कि अपनी जीवनशैली पर्यावरण बचाने के अनुकूल बनाओ। साथ ही पूर्व सीएम ने कहा कि, हम पर्यावरण संरक्षण के लिए मिलकर काम करें ताकि हमारी आने वाली पीढ़ियों को सुरक्षित धरती दे सकें।

जब तक जिऊंगा, पेड़ लगाऊंगा

पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, लोग कहते हैं कि, दुनिया बहुत खराब है, खराब जमाना आ गया है, लेकिन मैं कहता हूँ दुनिया खराब नहीं है, दुनिया में अच्छा काम करने वाले ज्यादा हैं और बुरा काम करने वाले कम हैं। अच्छा काम करने वाले कितने लोग यहाँ पर बैठे हैं ये सब अच्छा काम करने की भावना से आए हैं इसलिए मत कहो कि दुनिया खराब है, दुनिया बहुत अच्छी है। जब एक शिवराज जंगल खड़ा कर सकता है तो सब मिलकर क्या नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि, भोपाल की सभी पहाड़ियों को भी हरा-भरा करना है, जब तक जिऊंगा तब तक पेड़ लगाऊँगा। कोई न कोई सामाजिक कार्यक्रम हाथ में लें और उसे पूरा करने का प्रयास करें। हमारे प्रधानमंत्री जी ने भी राजनैतिक कार्यकर्ताओं को कहा है कि, कोई सामाजिक कार्यक्रम हाथ में लें। कोई एक काम हम अपने काम के साथ करते रहें। हमारी धरती को सुरक्षित रखना है तो पेड़ लगाना आवश्यक है। समाज और सरकार दोनों को मिलकर काम करना होगा। हर शहर में सरकार कोई स्थान तय कर दें जहां पेड़ लगाए जा सकें। इसी तरह ग्राम पंचायत स्तर पर भी पेड़ लगाने के लिए जमीन की व्यवस्था करें। वहीं हर शहर में एक ट्री बैंक भी बन जाए जहां से लोग पेड़ ले सकें।

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव विजनरी लीडर हैं

पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पर्यावरण सम्मेलन में प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव एक समर्पित कार्यकर्ता हैं, विजनरी लीडर हैं और मेरा अपना विश्वास है कि, मध्यप्रदेश उनके नेतृत्व में कई गुना ज्यादा प्रगति करेगा, विकास करेगा। मैं मध्यप्रदेश से प्यार करता हूँ, मध्यप्रदेश की जनता से प्यार करता हूँ और किसी भी अच्छे कार्यकर्ता की सोच ये नहीं होनी चाहिए कि, केवल मैंने ही अच्छा काम किया… जो मेरे बाद हैं वो मुझसे बहुत अच्छा करेंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि, उनके नेतृत्व में मध्यप्रदेश तेजी से प्रगति और विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा।

सम्मेलन में शामिल हुई कई सामाजिक संस्थाएं

भोपाल के रविन्द्र भवन में मंगलवार को आयोजित पर्यावरण सम्मेलन में पर्यावरणविद् और सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ-साथ प्रजापिता ब्रम्हकुमारी आश्रम, गायत्री प्रज्ञापीठ, कॉलेज के छात्र, रहवासी समिति के सदस्य, व्यापारी संघ, लॉयंस क्लब, कर्मचारी संघ, चैम्बर ऑफ कॉमर्स, सभी समाज के पदाधिकारी, रामकृष्ण मिशन, मराठी, किरार, कुणबी समाज, संस्कार भारतीय विद्यापीठ, कटारा पौधारोपण, भाजपा के सदस्य, युवा मोर्चा के सदस्य, नर्मदा सेवा समिति और पौधरोपण कार्य में जुटे हुए सभी एनजीओ के सदस्य मुख्य रूप से सम्मिलित हुए।


Share This Post

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com