Explore

Search
Close this search box.

Search

Tuesday, February 27, 2024, 8:03 pm

Tuesday, February 27, 2024, 8:03 pm

Search
Close this search box.
LATEST NEWS
Lifestyle

राजधानी के पुलिस अफसरो को सिख धर्म में कृपाण का क्या महत्व है इनको जानकारी नहीं…??-आर. एस. सिंह खालसा

Share This Post

राजधानी की पुरानी जेल में मतगणना निरंतर जारी….!

अफसोस के साथ बताना पड़ रहा है राजधानी के पुलिस अफसरो को सिख धर्म में कृपाण का क्या महत्व है इनको जानकारी नहीं…??

गोविंदपुर से अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी से समर्पित प्रत्याशी सरदार आर.एस. सिंह खालसा( रामस्वरूप सिंह खालसा) को मतगणना में जाने से पुलिस अफसरो द्वारा रोका गया….!!

रोकने का कारण खालसा के साथ उनके समर्थक 9 इंच की कृपाण श्री साहब पहने हुए थे पुलिस अधिकारियों द्वारा कृपाण उतरने को कहा एवं छोटी कृपाण रखने को कहां गया अधिकारियों ने कहा 9 इंच की कृपाण मतगणना स्थल पर ले जाने की अनुमति नहीं…!

गोविंदपुरा 154 गोविंदपुरा विधानसभा के प्रत्याशी खालसा ने कृपाण उतरने से और 9 से छोटी कृपा रखना से किया माना…!!

पुरानी जेल में हो रही मतगणना में नहीं गए आर. एस. सिंह खालसा

खालसा ने कहा 9 इंच से छोटी कृपाण मेरे धर्म नहीं मेरे दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह महाराज ने सबसे छोटा शास्त्र 9 इंच की कृपाण को बताया है खालसा ने कृपाण छोटी नहीं की एवं मतगणना छोड़ दी वे वापस आ गए…!!

खालसा ने इसे अपने धर्म का अपमान बताया है खालसा ने कहा राजनीति से ज्यादा मेरे लिए आवश्यक मेरा धर्म है मैं श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का पुत्र हूं, गुरु सिख हूं, पंज कक्कर मेरे लिए सबसे आवश्यक है मेरे धर्म में 9 इंच की कृपाण सबसे छोटा शास्त्र है मैं अपना शास्त्र नहीं उतार सकता और ना ही 9 इंच से छोटा शास्त्र रख सकता चाहे जो भी परिणाम हो…!!

खालसा ने कहा अब मैं माननीय न्यायालय से प्रशासन से यह पूछना चाहता हूं कि जब त्रिशूल जैसी धार्मिक चिन्ह हर जगह जा सकते हैं तो क्या हमें यह अधिकार नहीं है कि हम अपने धार्मिक चिन्ह को ले जा सके जहां तक मेरी जानकारी में है आर्टिकल 25 में दर्ज है हर एक गुरु सिख एक 9 इंच एवं तीन फिटी श्री साहब रख सकता है तो फिर मतगणना में मुझे पुलिस अधिकारियों द्वारा जाने से क्यों रोका गया….!

मेरा देश की आम जनता से शासन प्रशासन एवं माननीय न्यायालय से समुचित देश की सिख संगत से विनती है निवेदन है मुझे यह बताने का कष्ट करें कि आखिर मुझे मेरे धार्मिक चिन्ह के साथ मतगणना स्थल जाने से क्यों रोका गया मुझे मेरे अधिकार से क्यों वंचित किया गया.?????

सभी देशवासियों से मैं पूछना चाहता हूं क्या मैं कोई अपराधी हूं क्या मेरे संपर्क अपराधियों से हैं क्या मैं कोई माफिया या गुंडा हूं….????? मेरा सवाल है

मैं राजधानी का चर्चित पत्रकार हूं गोविंदपुर 154 विधानसभा प्रत्याशी हूं एवं इससे पहले मैं गुरु का सिख हूं । केस, कंगा, कड़ा, कृपाण, कछेरा , यह मेरे धार्मिक चिन्ह है जो हमेशा मेरे शरीर के साथ रहते हैं मेरे शरीर का अंग है जिसे माननीय न्यायालय ने भी 3 फीट की श्री साहब अर्थात तलवार रखने की अनुमति दी हुई है फिर आखिर ऐसी क्या वजह थी जो मुझे 9 इंच के श्री साहब के साथ मेरे धार्मिक चिन्हो के साथ जाने से क्यों रोका गया कृपया मुझे बताने की कृपा करें।

अब बात करें चुनावी मतदान की अब मुझे मेरे मतदान के परिणाम के बारे में मत की गिनतियां के बारे में कौन बताएगा क्या माननीय कलेक्टर साहब या फिर रिटर्न अधिकारी जी…..!

पाठको आपकी जानकारी के लिए बता दें सरदार रामस्वरूप सिंह खालसा (आर. एस. सिंह खालसा)  गोविंदपुर 154 विधानसभा प्रत्याशी हैl


Share This Post

Leave a Comment

advertisement
TECHNOLOGY
Voting Poll
What does "money" mean to you?
  • Add your answer